Off Beat Stories

Page 2 of 68

“PLEASE JOIN ME IN “SADBHAVNA MARCH” ON THE 2ND OF OCTOBER 2017″

1111PLEASE JOIN ME IN “SADBHAVNA MARCH” ON THE 2ND OF OCTOBER 2017……….और इसे एक यादगार यात्रा बनाएं !

कार्यक्रम की विस्तृत जानकारी समय समय पर सामाचार पत्रों और सोशल मीडिया पर मिलती रहेगी……


This post has been viewed 283 times

“TEACHER’S DAY 2017″

FB TEACHER'S DAY MEMORY 1 copy FB TEACHER'S DAY MEMORY 2 copy FB TEACHER'S DAY MEMORY 3 copy

TEACHER’S DAY SPECIAL ………….अपने सभी Teachers को समर्पित !!
Teaching is a profession that creates all other professions……

जब मैं छोटा था तब मै बड़े होकर टीचर बनना चाहता था , पर तकदीर मुझे किसी और ही पेशे में ले आयी I मैं “रे Real Life “ में तो टीचर नहीं बन सका , पर “Reel Life” में मुझे कई बार टीचर का रोले अदा करने का सौभग्य प्राप्त हुआ I

सब से अच्छा “Fanta” के एक प्रिंट विज्ञापन का था I

.इस पोस्ट के साथ लगी हुई तस्वीरें, ग्रेटर नॉएडा के एक इंजीनियरिंग / मैनेजमेंट कॉलेज में एक अंतरराष्ट्रीय स्टॉक शूट कम्पनी ने शूट किया था और कई शिक्षा संस्थानों ने इसे अपने brochure में इस्तेमाल किया था I

I wanted to be teacher, when I was a child, but destiny took me to some other field. I couldn’t be a teacher in “REAL “life, but played the role of a teacher, quite a few times in “REEL” life.

The best one was for a print Ad for “Fanta”.

Pics below, were shot at a Management / Engineering College at Greater Noida, for an Internationally known stock shoot company and were used in the Brochures of various Institutes.


This post has been viewed 298 times

“GANDHI UTSAV 2017″

Gandhi Utsav 2017


This post has been viewed 273 times

“AUR IS TARAH EK AUR BAQR-EID DEKHTE HI DEKHTE GUZAR GAYEE”

FB BAQRE-EID 1 copy

AUR IS TARAH EK AUR BAQR-EID DEKHTE HI DEKHTE GUZAR GAYEE……..पता नहीं अब कितनी और नसीब में हैं !

अभी अभी महमानों के आखरी ग्रुप को विदा किया और उनके साथ गुज़ारे हुए लम्हों को तस्वीर के ज़रिये आप सब से शेयर कर रहा हूँ …….


This post has been viewed 315 times

“HAPPY BAQR-EID”

FB BAQRE EID 2017 copy


This post has been viewed 282 times

“HAPPY BAQR-EID”

FB BAQRE EID 2017 copy


This post has been viewed 251 times

“SURAJKUND CRAFT MELA KI JHALKIYAN”

FB SURAJKUND MEMORY 3 copyFB SURAJKUND MEMORY 1 copyFB SURAJKUND MEMORY 2 copy

SURAJKUND CRAFT MELA KI JHALKIYAN…….हर साल लगने वाल सूरजकुंड का क्राफ्ट मेला सारी दुनिया के शिल्पकारों के आकर्षण का केंद्र है !

येहाँ जाने से सारी दुनिया की शिल्प कला और वहाँ की संस्कृति की झलक मिलती है I और तब जाके महसूस होता है कि हमारा भारत कितना महान है , जहां हर प्रदेश से आए हुए शिल्पकार अलग अलग कला और संस्कृती के दूत दिखते है I और मन गाने लगता है :

जहां डाल डाल पे सोने की चिडया करती बसेरा , वो भारत देश है मेरा !!


This post has been viewed 259 times

“BHAGALPUR COLLEGE OF ENGINEERING NATIONAL ALUMNI MEET”

1 2 3 4 5 6 7

BHAGALPUR COLLEGE OF ENGINEERING NATIONAL ALUMNI MEET………गुडगाँव में आयोजित !

आज से एक साल पहले , आज ही के दिन FB के  अपने पोस्ट को नए दोस्तों के लिए दुबारा पेश कर रहा हूँ I

 

हम जिस शिक्षा संस्थान से पढाई करके , इंसान बनते हैं, उसी को भूल जाते हैं I और उसका क़र्ज़ हम पर सारी उम्र रह जाता है I

“देर आये , पर दुरुस्त आये” वाली कहावत , Bhagalpur College of Engineering के भूत पूर्व छात्रों पर, जिस में मैं भी हूँ , पूरी तरह लागू होती है I क्योंकि BCE Alumni ने संघटित होकर अपना क़र्ज़ चुकाने की ठान ली है ! कल 28 अगस्त को राष्ट्रिय मीटिंग में , जो जोश दिखा , वो इस बात की पुष्टि करता है I

Bhagalpur College of Engineering की स्थापना 1960 में हुई थी I पिछले 56 सालों में, यहाँ से लग भाग 7000 Engineers पास करके निकल चुके है I एक अंदाज़ के मुताबिक , इन में से अभी कोई 5000 Engineers पूरी दुनीया में , विभिन संथाओं में कार्यरत हैं I

28 अगस्त 2016 को, BCE Alumni Association ने राष्ट्रीय स्तर की मीटिंग आयोजित किया I यह समारोह गुडगाँव स्थित Power Grid Corporation of India के विशाल Auditorium में हुआ , जिस में देश के कई हिस्सों से आए सैंकड़ों Alumni ने भाग लिया I

समारोह में, संस्था को फैलाने और मज़बूत करने हेतु, बहुत सारे महत्य पूर्ण निर्णय लिए गए I साथ ही साथ ,BCE में पढने वाले वर्तमान छात्रों को भी विभिन्य छेत्र में support करने के लिए वृहत प्रोग्राम बना I जिस में छात्रों के लिए हर महीने मोटिवेशन के लिए एक सीनियर Alumni कॉलेज जाकर सम्भोदित करेंगे I शिक्षक के अभाव की पूर्ती के लिए Virtual क्लास के माध्यम से दुनिया के किसी हिस्से से बैठ कर पढ़ाएंगे I Placement के लिए अपनी नेटवर्क का प्रयोग करके कैंपस रिक्रूटमेंट की प्रतिक्रिया को सक्रिय बनायेंगे I नौकरी या उच्य शिक्षा में प्रवेश के लिए कोचिंग की व्यवस्था , छात्रों में छुपी प्रतिभा को निखारने के लिए अनेक प्रकार के Extra-curricular एक्टिविटीज का आयोजन करना इत्यादि , इस बृहत् प्रोग्राम में शामिल हैं I

Bhagalpur College of Engineering was established in the year 1960.It has produced ,a close to seven thousand engineers over the past 56 years, of which , five thousand are expected to be presently serving various organizations world wide.

BCE Alumni Association, organized a national meet on the 28th of August 2016, at the Power Grid Corporation of India, auditorium at Gurgaon (NCR).The program was super successful, as hundreds of Alumni from various parts of India , attended the meet.

Hosts of decisions were taken to strengthen the community, as also to support the present students of BCE , on various fronts, which includes monthly motivational lecture by any distinguished alumni. To combat the shortage of teaching staff, alumni, from any part of the world , shall be teaching the students through “Virtual class” system. To augment campus recruitment, alumni shall use their strong presence in various segments of the industry. Other proposed measures include organizing coaching classes for training the students both for entrance into higher education & job from pre-final year stage, promotion of extra-curricular activities, as a part of personality development etc.

 


This post has been viewed 242 times

“MANJHI NAIYAA DHOONDE KINARA “

FB DVC 2 FB DVC 1 FB DVC.3

 

MY VISIT TO DVC HYDEL POWER PROJECT…..बराकर नदी पर बना बिजली उत्पादन केंद्र देखने योग्य है !

मैं पेशे से Engineer हूँ, पर मुझे इस पेशे से कोई लगाओ नहीं रहा I

गरचे DVC के इंजिनियर अमित कुमार सिंह और NTPC के इंजिनियर अतुल चौहान ने मुझे प्लांट दिखाने और तकनीक समझाने में कोई कमी नहीं की , फिर भी मेरा मन बाहर दूर दूर तक फैली हुई पहाड़ियां , जंगल और नदी के बहते हुए पानी पर टिका हुआ था I

पहाड़ की चोंटी पर DVC का एक काफी बड़ा डाक बंगला है, जहां स्वादिष्ट भोजन का प्रबंध था I खाना खाने के बाद , मैं कुदरत की अपार सुन्दरता को खोज में निकल गया और कुछ तस्वीरें कैमरे में क़ैद कर ली I इन्हीं में से तीन तस्वीरें पोस्ट कर रहा हूँ I

माहौल इतना लुभावना था कि मेरे अन्दर का शायर जग गया I इसी लिए तीनो तस्वीरों का विवरण , मैं ने विभिन्य शायरों के मशहूर शेर के द्वारा किया है I

शेर में कुछ शब्द उर्दू / फ़ारसी के हैं , इस लिए मैं पाठकों की सुविधा के लिए , उन शब्दों का अनुवाद नीचे लिख रहा हूँ I

Mauj-e-Bala : संकट की लहर

Nakhuda : मल्लाह

Sahil : किनारा


This post has been viewed 257 times
« Older posts Newer posts »

Copyright © 2017 Off Beat Stories

Design and Develop by AayaamLabs Pvt LtdUp ↑