Off Beat Stories

Category: Uncategorized (page 1 of 51)

“AURON KO PILATE RAHTE HAIN, AUR KHUD PYASE RAH JATE HAIN”

FB COUNTRY CLUB MEMORY 1 FB COUNTRY CLUB MEMORY 2AURON KO PILATE RAHTE HAIN, AUR KHUD PYASE RAH JATE HAIN……….यह पीने वाले क्या जाने , पैमानों पर क्या गुजरी है !
“COUNTRY CLUB” के भारत के इलावा विश्व में 50 से भी ज़यादा जगहों पर बने “Holiday Resorts” धरती पर स्वर्ग जैसे हैं ! मैं ने यह बातें दोस्तों से भी सुनी है, जो वहां ठहरते हैं I
मेरी बदकिस्मती या संयोग है कि मैं इनके प्रचार का हिस्सा हूँ , फिर भी आज तक इनके किसी भी Resort में ठहरने का सौभाग्य प्राप्त नहीं हुआ I इसी लिए कहता हूँ :
AURON KO PILATE RAHTE HAIN, AUR KHUD PYASE RAH JATE HAIN……….यह पीने वाले क्या जाने , पैमानों पर क्या गुजरी है !


This post has been viewed 35 times

” MITA DE APNI HASTI KO, AGAR KUCH MARTABA CHAAHE”

FB WAITER 1 FB WAITER 2 FB WAITER 3MITA DE APNI HASTI KO, AGAR KUCH MARTABA CHAAHE,
KE DAANA KHAAK MIEN MILKAR, GUL E GULZAAR HOTA HAI ………
………my story of attaining a bit of “Martaba” !!!
I have been a part of Film & TV industry for about 20 years. Had the privilege of working with some very talented actors & directors. My observation is that, it is the director, who takes the best out of an actor. I owe my success to my various directors. All successful actors have some common traits .They are avid listener, are extremely disciplined, have no inhibition & religiously follow the instruction of the director. Star of the century, Mr.Amitabh Bachchan, is a burning example of the same.
Size & type of the role doesn’t matter. A performer leaves the trail, even with a small or insignificant role. Whenever, I refused an offer, the reason has either been clash of dates or when the character was supposed to promote harmful products like Paan Masala or Alcohol (in TV Commercials) and not the size or type of role.
My profession required extensive travel & comfortable stay. I had the privilege of staying in most of the 5-star hotels, not only in India, but in many countries in The Far East, The Middle East, Europe, USA & Canada etc.
How embarrassing, it would have been for a person, who was so regular at luxury hotels, when asked for a photo shoot, dressed as a waiter, for the brochure of an International chain of hotel.
But being an intense actor by choice, I accepted the offer, very gladly.
The attached picture is from the same shoot & which found place in the brochure of a International chain of hotels.
And I am not alone. In the other two pictures, you can see Super Star Mr.Amitabh Bachchan and latest heart- throb, Varun Dhawan, playing waiter’s role.
Closing this post with another master piece by Dr.Iqbal……
MUQADDAR JIN KE OONCHE AUR AALA BAKHT HOTE HAIN ,
ZINDAGI MIEN UNHIN KE IMTIHAAN BHI SAKHT HOTE HAIN !!


This post has been viewed 56 times

“WOH KHWABON KE DIN, WOH KITABON KE DIN”

FB MY INSTITUTIONS copy - Copy

WOH KHWABON KE DIN, WOH KITABON KE DIN………सवालों की रातें , जवाबों के दिन !

कई साल हमने गुज़ारे यहाँ , येहीं साथ खेले हुए हम जवां…….


This post has been viewed 81 times

“RANCHI KI RAHNE WALI 12 SAAL KI SINGING SENSATION”

RANCHI KI RAHNE WALI 12 SAAL KI SINGING SENSATION……….नीचे दी हुई लिंक को क्लिक करें और सुनें मेरी भतीजी आयुषी राज को !

( पहला गाना “बातें यह कभी ना , तु भूलना “ आयुषी का गाया हुआ है I इसके बाद के गाने किसी और सिंगर्स के हैं )

https://www.smule.com/p/833806646_1343423591

आयुषी राज मेरे छोटे भाई सुशिल कुमार की अत्यंत  प्रतिभावान बेटी है I 12 साल की उम्र में इस ने अनेक प्रतियोग्यता में प्रथम स्थान प्राप्त कर लिया है I संगीत की उच्य शिक्षा को ध्यान में रखते हुए , सुशिल कुमार जी , अगले साल से इसकी स्कूल की पढाई बैंगलोर में कराने का इरादा कर चुके हैं I

संगीत के अलावा , आयुषी एक अच्छी
Cartoonist” भी है I इतना ही नहीं कक्षा 6 में पढने वाली आयुषी ,पढाई में भी अपने कक्षा में फर्स्ट होती है …..

अल्लाह इसके सारे सपने पूरे करे…. आमीन !

FB AYUSHI RAJ RANCHI copy


This post has been viewed 173 times

“JK WALL PUTTY TV COMMERCIAL”

FB JK WALL PUTTY MEMMORY copy


This post has been viewed 212 times

“STILLS FROM INSURANCE AWARENESS FILM”

STILLS FROM INSURANCE AWARENESS FILM……………..

Insurance Foundation of India & Punjab National Bank Metlife Insurance are launching massive campaign for Insurance Awareness, across the country.

As a part of the campaign, they are producing a film in docudrama format .I am lucky to be part of this project.

The film shoot was held in Delhi lasting over 16 hours. Although, it was a tiring schedule, yet I enjoyed every moment of it.

The film is produced under the banner of R & R Films, which is headed by none other than internationally known media personality Mr.Rajiv Kumar.

Mr.Kumar, did his Masters in English from St. Stephen’s college, with next Post Graduation in Journalism from England and subsequently, a Fulbright Scholar of Syracuse University, New York. He had an illustrious career with Door Darshan, spanning over thirty years, as Chief Producer & Head of many departments.

I am proud to be his friend ……..

FB INSURANCE FILM MEMORY 1 FB INSURANCE FILM MEMORY 2 FB INSURANCE FILM MEMORY 3 FB INSURANCE FILM MEMORY 4


This post has been viewed 247 times

“DO WHAT YOU LOVE & LOVE WHAT YOU DO”

DO WHAT YOU LOVE & LOVE WHAT YOU DO……. इंजीनियरिंग / मेडिकल की पढ़ाई करके साहित्य और फिल्मों में जाने वाले मेरे अलावा और बहुत हैं !
 
आज मैं हजारीबाग में छुटियाँ मना रहा था , तब ही कोडरमा से फ़ोन आया कि साहित्य और फिल्म जगत से जुड़े कुछ लोग मुझ से मिलने आ रहे हैं ! और कुछ ही देर बाद चार लोग मेरे सामने थे I करीब दो घंटे बहुत ही दिलचस्प बातें हुईं ! मज़ा आ गया !
 
वो इस लिए कि उन चार लोगों में दो मेरी तरह , आत्म संतुष्टि के लिए , अपने Original करियर से u- turn लेकर सहित्य और फिल्मों की दुनिया में आए थे I
 
आईये इन दोनों का परिचय करता हूँ :
 
डॉ बिरेन्द्र कुमार : इन्हों ने 1995 में पटना मेडिकल कॉलेज से MBBS की डिग्री हासिल की और झारखण्ड सरकार में 2013 तक डॉक्टर की हैस्यत से नौकरी की I लेकिन स्कूल और कॉलेज के ज़माने में काटे हुए म्यूजिक और थिएटर के कीड़े से परेशान थे I इसी लिए इन्होने सरकारी नौकरी को त्याग दिया और प्राइवेट प्रैक्टिस के साथ साथ फ़िल्में बनाने लगे I इनकी अगली फिल्म “प्यार से” अंडर प्रोडक्शन है I इस फिल्म में मुझे काम करने का proposal भी दिया !
 
मेरे दुसरे मेहमान थे :
 
पी .विजय राघवन: तमिल नाडू के रहने वाले राघवन साहेब, रांची में बस गए हैं I इन्होंने 1972 में IIT, Delhi से B.Tech कि डिग्री प्राप्त की ! फिर दिल्ली यूनिवर्सिटी से MBA और बाद में Indian Institute of Mass Communication दिल्ली से साहित्य्कारिता में डिग्री प्राप्त की I
 
मेरी तरह इनको भी इंजीनियरिंग का काम रास नहीं आया और मात्र कुछ महीने के अन्दर ही अपने मन चाहे फील्ड में आ गए I इन्होने PR Agency और Event Management के फील्ड में काम किया I इसके अलवा वो The Times of India , The Telegraph , The Hindustan Times जैसे देश के बड़े समाचार पत्रों में अपना योग्यदान देते रहे I
 
पिछले 4 सालों से रांची से इनका द्विभाषिक समाचार पत्र ”दिस सप्ताह “ निकालते हैं I यह पूर्वी भारत का एकलौता द्विभाषिक समाचार पत्र है I इतने सब से मन नहीं भरा तो डॉ.बिरेन्द्र जी के साथ फिल्म प्रोडक्शन और एक्टिंग की दुनिया में भी उतर गए !!
 
मैं अपने दोनों महमानों का और उनके अथक भावनाओं को सलाम करता हूँ …….

FB KODERMA FILM TEAM copy


This post has been viewed 282 times

“MERI UNCHAIYON KO DEKH KAR HAIRAN HAIN LOG”

MERI UNCHAIYON KO DEKH KAR HAIRAN HAIN LOG……पर किसी ने मेरे पांव के छालों को नहीं देखा !

यूँ तो किसी भी छेत्र में अपनी एक अलग पहचान बनाना बहुत कठिन होता है और अगर यह छेत्र ग्लैमर की दुनिया से जुड़ा हो और किसी Godfather का सहारा नहीं हो, तो आप सोंच सकते हैं कितने पापड़ बेलने का बाद आपकी पहचान बन पाती है I

वो भी सभी को नसीब नहीं होती है,क्योंकि इस छेत्र में सफलता का प्रतिशत शून्य से थोडा ही ऊपर होता है…..

FB MUSIC ALBUM MEMORY copy


This post has been viewed 316 times

“PERFECT CHAIR” KE TV COMMERCIAL KI EK PURANI TASWEER”

qqq“PERFECT CHAIR” KE TV COMMERCIAL KI EK PURANI TASWEER……जब मुझे मॉडलिंग की दुनिया में पहचान मिलनी शुरू हुई थी !


This post has been viewed 307 times

“TUM SAMAY KI RAIT PAR CHORTE CHALO NISHAAN”

FB SHEILA DIXIT MEMORY 2 copyTUM SAMAY KI RAIT PAR CHORTE CHALO NISHAAN…….देखे यह ज़मीन, देखे आसमान !
मेरे अब्बा मरहूम कहा करते थे, ज़िन्दगी में अगर घास काटने का भी काम मिले, तो ऐसा काटो जैसा कोई नहीं काट सकता हो,,,,,
यह बात मेरे अन्दर घर कर गयी और इसका नतीजा है कि मैं ने जिस छेत्र में भी काम किया, मान सम्मान से मुझे नवाज़ा गया I चाहे गंभीर साहित्य्कारिता हो,हास्य हो , व्यंग हो पत्रकारिता हो,अदाकारी हो या फिर Marketing Consultancy जैसे विभिन्न छेत्र हों I
आज इस उम्र में भी मैं 16 घंटे काम करता हूँ और जो भी करता हूँ religiously करता हूँ I ख़ुशी ख़ुशी करता हूँ , कभी भी बोझ समझ कर नहीं I


This post has been viewed 336 times
Older posts

Copyright © 2017 Off Beat Stories

Design and Develop by AayaamLabs Pvt LtdUp ↑