Off Beat Stories

Category: Uncategorized (page 1 of 48)

“AEY ALLAH, MERE DIL AUR DIMAGH DONO MEIN EXTRA MEMORY CARD LAGA DE”

aaaa bbb

AEY ALLAH, MERE DIL AUR DIMAGH DONO MEIN EXTRA MEMORY CARD LAGA DE………क्यूंकि मेरी पहचान , उनसे मिलने वाला प्यार और उनके साथ खुशगवार यादें इतनी हैं कि अब मेरी Memory में Save नहीं हो पा रही हैं !

अभी अभी रांची से हज़ारीबाग पहुंचा हूँ I इतनी यादें , तस्वीरों में क़ैद कर लाया हूँ कि बगैर अल्लाह की मदद से आप सब से शेयर करना नामुमकिन है…..


This post has been viewed 31 times

“JO THOKAR NA KHAHYE, NAHIN JEET USKI”

AAAAAA copy

JO THOKAR NA KHAHYE, NAHIN JEET USKI………. जो गिर के संभल जाए, है जीत उसकी !!

I have been touring Bihar / Jharkhand for the past few days.While in Dumka (Jharkhand) , I visited the official Bungalow of the District & Sessions Judge,, where I spent a part of my childhood, as my father was posted there as District & Sessions Judge during 1954-55 (about sixty years back).It was here that I had my first stage performance as.an actor , at an age of six years, in a cultural program.I didn’t receive any prize and I started crying.To console me , I was awarded a prize ( an embroidery Kit), meant for my elder sister (Nishat Aapa) for her excellent performance in embroidery competition.What an embarrassing beginning of my career as an actor !

एक सफल actor की ऐसी असफल शुरूआत I पर इस हार ने मुझ में वोह जोश भरा , जो अब तक काम आ रहा है !

Picture below shows me, standing in the sprawling compound of District Judge’s bungalow at Dumka (Jharkhand).

 


This post has been viewed 56 times

“MY NEW FB PROFILE PICTURE”

FB PROFILE FINAL


This post has been viewed 108 times

” INKI ZINDAGI MEIN ITNI KARWAHAT AUR NIRAASHA HAI “

FB CYCLE COAL WALLAHS 2 copy

INKI ZINDAGI MEIN ITNI KARWAHAT AUR NIRAASHA HAI ………..कि फोटो के लिए भी मुस्कुराना मुमकिन नहीं था !!
भारत विश्व का तीसरा बड़ा कोयला उत्पादक है I अधिकतर कोयला खदान झारखण्ड , बंगाल और आस पास के छेत्र में हैं I लगभग पिछले 200 सालों में यहाँ लाखों लोगों को रोज़गार मिला और साथ साथ कोयला के कारोबार ने हज़ारों लोगों को ज़मीन से उठाकर अरबपतियों की पंक्ती में खड़ा कर दिया I
दुसरे व्यापारों की तुलना में, कोयला उद्योग में मजदूरों का शोषण थोडा ज्यादा ही हुआ I दुःख की बात है, आजादी के बाद अपने ही लोगों ने शोषण की सारी हदें पार कर दी I

असंगठित खंड में काम करने वाले मजदूरों की काफी बड़ी संख्या है I इतना ही नहीं , पेट को भूक मिटाने के लिए ,इस छेत्र के वाशी गैर कानूनी काम करने पर भी मजबूर हैं I
इन में से ही एक जमात है , जिसे “ COAL CYCLE WAALH “ के नाम से जाना जाता है I इनकी तायदाद हज़ारों में है I यह हर समय कोयला खदान के छेत्र से गुजरने वाले हाईवे पर समूह में जाते हुए दिखते हैं I
यह लोग अवैध्य खनिकों से कोयला खरीदकर लग भाग 200-250 किलो कोयला साइकिल पर लोड कर, 80 किलोमीटर तक की दूरी तय कर शहर ले जाते हैं और वहाँ बेच कर एक अंदाज़ के मुताबिक 500 रुपया तक मुनाफ़ा कमाते हैं I साइकिल पर इतना कोयला लोड कर देते हैं कि साइकिल को चलाकर नहीं, पैदल खींच कर ले जाते हैं I ऊँचे नीचे रस्ते पर इतना वज़न लेकर इतना लम्बा सफ़र , अत्यंत ही दर्दनाक होता है I कहीं कहीं पर चडाई इतनी ऊँची होती है कि दो तीन साइकिल वाले अपनी अपनी साइकिल खड़ा कर के , एक एक कर ठेल कर सफ़र जारी रखते हैं I

कोयला लेकर जाने में और बेचकर वापस घर आने में तीन दिन लग जाता है I इस तरह यह तीन दिन में मात्र 500 रुपया तक ही कमा पाते हैं I सब से दुःख की बात है की इतना कठिन परिश्रम करने से, बहुत जल्द ही इनकी हड्डियां और शरीर के दुसरे अंग जवाब देने लगते हैं I और आगे इस से भी भयानक भविष्य होता है I

इन के गैर कानूनी काम की और इनकी दुर्दशा की कहानी सभी को पता है I पर , इसका हल निकालने की इच्छा शक्ति, न तो सरकार को है न समाज को….

AZADI KE 70 SAAL BHI INKA YEH HAAL….हम सब पर कलंक है !!

Inko shoshan aur bhookh se azadi dliane ke liye………..बापू को कई जन्म और लेना पड़ेगा !!


This post has been viewed 188 times

“BAHUT DINO BAAD “CHIDCHIDI” SE MULAQAT HUI”

FB KANTON SE DOSTI (2)

BAHUT DINO BAAD “CHIDCHIDI” SE MULAQAT HUI………..बचपन में जब बाग़ में तितलियाँ पकड़ने जाता था तो ‘चिडचिडी “ से रोज़ पाला पड़ता था !!

कल मैं झारखण्ड की खूसूरत घाटियों से गुज़र रहा था , तब ही अचानक सफ़ेद रंग के फूलों की लम्बी कतार नज़र आयी ! मैं ने ड्राईवर से कहा तुरंत गाडी रोको ताकि मैं इन फूलों को छु कर देख सकूं I पर जब मैं इन फूलों की झाड़ को पकड़ने गया तो मेरे पूरे कपड़ों में, वही बचपन वाली “चिडचिडी” चिपक गयी I

दर असल यह फूलों ली झाड़ नहीं थी , बल्कि मेरे बचपन वाली चिडचिडी का बड़ा रूप था I

इसी को कलयुग कहते हैं I किसी से कभी भी धोखा हो सकता है ..


This post has been viewed 221 times

“DOOR KA DHOL SUHANA HOTA HAI”

DOOR KA DHOL SUHANA HOTA HAI ……..अपने देश से सुन्दर कोई भी देश नहीं है !!

बस देखने वाले की नज़र और सोंच में देश प्रेम होना चाहिए …….

AAAAA copy


This post has been viewed 241 times

“HAD A MEMORABLE MEETING WITH SHAMOIL AHMAD AT RANCHI”

FB SHAMOIL AHMAD copyHAD A MEMORABLE MEETING WITH SHAMOIL AHMAD AT RANCHI………….शामोइल अहमद, भागलपुर की सर ज़मीन पर पैदा एक और सेलिब्रिटी ! 

इस में कोई शक नहीं है कि भागलपुर की मिट्टी में कोई ख़ास बात ज़रूर है I मेरे मित्र प्रदीप कुमार सिन्हा , भागलपुर में जन्में मशहूर हस्तियों की विस्तृत जानकारी के संग्रह पर काम कर रहे हैं I हमें उमीद है, काफी रोचक होगा उनका यह संग्रह I 

आज मैं आपका परिचय जनाब शामोइल अहमद साहेब से कराता हूँ I यह मौलिक रूप से भागलपुर के भीकनपुर मोहल्ले के रहने वाले हैं I इन्हों ने RIT , जमशेदपुर से 1968 में सिविल इंजीनियरिंग की डिग्री प्राप्त किया I बिहार सरकार के PHED विभाग से Chief Engineer के पद से रिटायर हुए I बिलकुल मेरी ही तरह इन्हों ने भी स्कूल में पढाई के दौरान समाचार पत्रों में लिखना शुरू कर दिया था I और तब से अब तक यह सिलसिला जारी है I

उर्दू साहित्य में इनकी लग भग 10 पुस्तकें प्रकाशित हो चुकी हैं I और इन्हें एक साहित्यकार के रूप में देश और विदेश में सम्मानित किया जा चूका है I इनकी कहानियों पर 3 Telefilms भी बन चुकी हैं I जितना अच्छा यह उर्दू में लिखते हैं, उतना ही अच्छा यह हिंदी में भी लिखते हैं I

 इन सब के अतिरिक्त, यह एक जाने माने ज्योतिष भी हैं और इस विषय पर भी एक पुस्तक जल्द ही आने वाली है I 

अपनी नयी फिल्म के लीड रोले करने का ऑफर मुझे दिया , जिसे मैं ने तुरंत स्वीकार कर लिया , क्योंकि विषय बिलकुल लीक से हट कर है I

 शामोइल साहेब से मेरी यह मुलाक़ात लग भग 20 साल बाद हुई I दोनों ने इस मुलाक़ात का भर पूर आनंद लिया I


This post has been viewed 260 times

“MY SON ASIF JANI IS TOO GOOD BEHIND THE CAMERA”

MY SON ASIF JANI IS TOO GOOD BEHIND THE CAMERA……….और मुझे कैमरे का सामने रहने का नशा है !

पर जिस तरह गुलाब के पौदे पर गुलाब का ही फूल निकलता है , उसी तरह रचनात्मक व्यक्ति का बेटा भी रचनात्मक होता है I चाहे छेत्र अलग अलग हो …

1 main copy 2 copy 3 copy


This post has been viewed 300 times

“मेरी तंदुरस्ती का राज़…………….LIGHT FOOD AND LIGHT EXERCISE”

222222मेरी तंदुरस्ती का राज़…………….LIGHT FOOD AND LIGHT EXERCISE !!

 


This post has been viewed 309 times

“TEACHER’S DAY 2017″

FB TEACHER'S DAY MEMORY 1 copy FB TEACHER'S DAY MEMORY 2 copy FB TEACHER'S DAY MEMORY 3 copy

TEACHER’S DAY SPECIAL ………….अपने सभी Teachers को समर्पित !!
Teaching is a profession that creates all other professions……

जब मैं छोटा था तब मै बड़े होकर टीचर बनना चाहता था , पर तकदीर मुझे किसी और ही पेशे में ले आयी I मैं “रे Real Life “ में तो टीचर नहीं बन सका , पर “Reel Life” में मुझे कई बार टीचर का रोले अदा करने का सौभग्य प्राप्त हुआ I

सब से अच्छा “Fanta” के एक प्रिंट विज्ञापन का था I

.इस पोस्ट के साथ लगी हुई तस्वीरें, ग्रेटर नॉएडा के एक इंजीनियरिंग / मैनेजमेंट कॉलेज में एक अंतरराष्ट्रीय स्टॉक शूट कम्पनी ने शूट किया था और कई शिक्षा संस्थानों ने इसे अपने brochure में इस्तेमाल किया था I

I wanted to be teacher, when I was a child, but destiny took me to some other field. I couldn’t be a teacher in “REAL “life, but played the role of a teacher, quite a few times in “REEL” life.

The best one was for a print Ad for “Fanta”.

Pics below, were shot at a Management / Engineering College at Greater Noida, for an Internationally known stock shoot company and were used in the Brochures of various Institutes.


This post has been viewed 299 times
Older posts

Copyright © 2017 Off Beat Stories

Design and Develop by AayaamLabs Pvt LtdUp ↑